SUPER FREAKONOMICS

About Book

क्या आप कभी किसी इंसान द्वारा  लिए फैसले को लेकर हैरान हुए हैं? क्या आपने कभी क्लाइमेट चेंज, प्रॉस्टिट्यूशन और आतकवाद, जैसे ग्लोबल प्रॉब्लम को सॉल्व करने के बारे में सोचा है? यह समरी इंसान के नेचर और कैसे हमारे फैसले ग्लोबल मुद्दों पर असर डालते हैं, इसे  एनालाइज़ करती है। आप सोचने के  नए तरीके के बारे में सीखेंगे, जिसे  ‘इकॉनोमिक  अप्रोच’ कहा जाता है।
 


यह समरी किसे पढ़नी चाहिए?

* लॉ, पॉलिटिक्स या इकोनॉमिक्स के स्टूडेंट्स को 
* कम्युनिटी लीडर्स को
* बिजनेस लीडर्स और entrepreneurs को
* जो भी ज़्यादाअच्छे से समझना चाहते हैं कि दुनिया कैसे काम करती है  


ऑथर्स के बारे में 
स्टीवन डी लेविट एक इकोनॉमिस्ट और शिकागो यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर हैं। 
स्टीफ़न जे डबनर एक जर्नलिस्ट और पॉडकास्टर हैं। उनका ‘Freakonomics Radio’ नाम से एक पॉडकास्ट है जिसमें 500 से ज़्यादा एपिसोड हैं। लेविट और डबनर ने मिलकर ‘Freakonomics’, ‘Superfreakonomics’, ‘Think like a Freak’ और ‘How to Rob a Bank’ नाम की बुक्स लिखी हैं।
 

Chapters

Add a Public Reply