Karma Yoga

About Book

क्या आप अपने काम में थकान महसूस करते हैं या आपको अपना काम करने की इच्छा ही नहीं होती? क्या आपको लगता है कि आपके काम की तारीफ नहीं की जाती? क्या आपको लगता है कि आप ज्यादा पहचान पाने के हकदार हैं? अगर आपका जवाब हाँ है तो ये बुक आपके लिए है. स्वामी विवेकानंद आपको अपने कर्म और ड्यूटी से प्यार करना और उस महानता को हासिल कैसे करना है ये सीखाएंगे. आप सीखेंगे कि आप कैसे अपने काम को और भी ज्यादा बेहतर तरीके से कर सकते हैं और उससे पूरी तरह संतुष्ट हो सकते हैं. 

ये समरी किसे पढ़नी चाहिए?
वेतन कमाने वाले, वर्क फ़ोर्स के मेम्बेर्स, हाउसवाइफ, परिवार के कमाने वाले मेम्बेर्स,  जो भी कर्म योग के बारे में सीखना चाहते हैं. 

ऑथर के बारे में 
स्वामी विवेकानंद एक महान संत और टीचर हैं. मॉडर्न दुनिया को वेदांत और योग के बारे में सिखाने वाले वो सबसे पहले इंसान हैं. उन्होंने पूरे अमेरिका और यूरोप में घूम घूम कर कई लेक्चर दिए.  स्वामी विवेकानंद इस बात में विश्वास करते थे कि भगवान् की सेवा करने के लिए पहले लोगों की सेवा करना ज़रूरी है. उनकी तालीम और सोच को ना सिर्फ़ भारत में बल्कि दुनिया के कई हिस्सों में बहुत महत्व दिया जाता है. उनकी सिखाई हुई बातें बहुत मूल्यवान हैं.   

Chapters

Add a Public Reply